15 जनवरी 2019

कुछ मेरी कलम से यशोदा अग्रवाल पढ़ने का जूनून :)

यशोदा अग्रवाल जी ब्लॉगजगत में एक पहचान है यशोदा अग्रवाल जी ( मेरी धरोहर , मुखरित मौन विविधा, पाँच लिंकों का आनन्द ) यशोदा जी कई ब्लॉग की संस्थापक है पढ़ने का शौक और लिखने का जूनून उनके अंदर कूट-कूट कर भरा हुआ है लगभग कई वर्षो से यशोदा दी को ब्लॉग के माध्यम से पढ़ रहा हूँ उनका कई ब्लोगो पर हर दिन दृढ़ता पूर्वक कार्य जारी है अपने कार्यो में कुशल पूर्ण पारिवारिक महिला यशोदा जी अपने कर्तव्यों का दृढ़ता पूर्वक निभा रही हैं समय- समय पर उनकी मर्मस्पर्शी लेखन पढ़ने को मिलता है ब्लॉग के सदस्यों की मेहनत और लगन के कारण हलचल विद पाँच लिंकों का आनन्द वर्तमान में बहुत लोकप्रिय है यशोदा दी लेखन के साथ-साथ अच्छी पाठक भी है जो हमेशा ब्लोगरो की रचनाएँ अपने ब्लॉग पर प्रसारित कर सभी का हौसला बढाती रही है ....लम्बे समय से मैं यशोदा अग्रवाल जी का ब्लॉग पढ़ रहा हूँ पर उनसे मिलने का सौभाग्य नहीं प्राप्त हुआ मैं अक्सर यशोदा जी जी के बारे में कुछ लिखना चाहता था और क्यों न लिखे आखिर उनका ब्लॉगिंग और ब्लोगरो की रचनाएँ अपने ब्लॉग पर प्रसारित कर बहुत ही बढ़िया कार्य कर रही है उनका अंदाज ही ऐसा है कि पाठक अपने आप ही उनके ब्लोगो पर खिंचा चला जाता है उनके इस योगदान ने ब्लॉगजगत को प्रभावित किया है उनके निरंतर योगदान के लिए यशोदा अग्रवाल जी को ढेरों शुभकामनायें यशोदा दीदी के लेखनी से प्रभावित होकर ही उनके बारे में लिख रहा हूँ पर शायद उनके बारे में लिखना मेरे लिए बड़ी उपलब्धि है यशोदा दी के ब्लॉग से कुछ पंक्तिया साँझा कर रहा हूँ उम्मीद है सभी को पसंद आये ........!!
यशोदा जी की लिखी मेरी पसंदीदा रचना........सात शहीद 
चले गए वो क्यों
क्या दुश्मनी थी उनसे
जो मार दिया छल से
जो चाहते हैं वो
वो होगा जरूर
पर उन्हे... 
देनी होगी तिलाजली
हथियार के रूप में
और सरकार से
विनम्र आग्रह
तलाशें..उन सफेदपोशों
और सरकारी अमले में से
विभीषणों और जयचंदों  को
जो इन आतंकवादियों को 
खबरें मुहैय्या  करवाते हैं
व पनाह भी देते हैं
और तभी..
भारत की जनता
मरते-मरते जीने के
भय से मुक्त होगी !!
मन की उपज

-  यशोदा अग्रवाल 
मेरी और से यशोदा जी को लेखन के लिए लिए को ढेरों शुभकामनाएँ............!!

-- संजय भास्कर 

29 टिप्‍पणियां:

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

बढ़िया परिचय . आपका बहुत बहुत आभार इस परिचय के लिए . यशोदा जी को शुभकामनाएं .

Meena Bhardwaj ने कहा…

यशोदा जी के बारे में आपके ब्लॉग पर पढ़ना एक सुखद अनुभूति है । वास्तव ब्लॉग जगत में उनका योगदान और उनकी कर्मठता बेमिसाल है । मिलने का सुअवसर तो कभी नही मिला उनसे मगर अपने ऊर्जात्मक और स्नेहिल व्यवहार से वे दिल के करीब लगती हैं । बहुत खूबसूरती से आपने उनके बारे मेंं लिखा है ।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर संजय जी। यशोदा जी के जुनून पर जितना लिखा जाये कम है। साधुवाद।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन की दिनांक 15/01/2019 की बुलेटिन, " ७१ वें सेना दिवस पर भारतीय सेना को ब्लॉग बुलेटिन का सलाम “ , में आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

दिगम्बर नासवा ने कहा…

यशोदा जी को लम्बे समय पे ब्लॉग जगत पे सतत सक्रीय रहती हैं ... हिंदी और साहित्य की सेवा में निरंतर कार्यरत हैं ... और उनके परिश्रम को मेरा नमन है ...
अच्छा लगा उनको जानना ... आपकी कलम से ....

Kamini Sinha ने कहा…

आदरणीय संजय जी, आभार आप का , जो आपने यशोदा जी से रूबरू कराया। मैं तो ब्लॉग जगत में अभी नई हूँ इसलिए इस आभासी दुनियां के सभी सदस्यों को अभी ठीक से नहीं जान पाई हूँ ,उन्हें जानने का सत् प्रयास जारी है ,यशोदा जी और उन जैसे सारे आदरणीय साहित्यकारो को सादर नमन है जिन्होंने नये रचनाकारों को अपने ब्लॉग पर स्थान दे कर उन्हें प्रोत्साहित किया है। सादर नमन आप को

अनीता सैनी ने कहा…


आदरणीय संजय जी, सह्रदय आभार आप का , जो आपने आदरणीय यशोदा जी से रूबरू करवाया, ब्लॉग जगत में बहुत ही जानी मानी हस्ती है, यशोदा जी आज पहली बार आप की लिखी रचना पढ़ी, बहुत अच्छा लगा, लाजबाब लेखनी है आप की, अच्छा लगा आज आप को जानकर, सह्रदय आभार आदरणीय संजय जी, सुन्दर लेखन के लिए |
सादर

Anuradha chauhan ने कहा…

यशोदा जी के बारे में पढ़ कर बहुत अच्छा लगा संजय जी आपका बहुत बहुत आभार हमें विस्तार से जानने को मिला
यशोदा जी बेहतरीन रचना लिखी आपने 👌

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत रोचक परिचय...यशोदा जी को पढ़ना सदैव सुखद रहा है...बधाई

Jyoti khare ने कहा…

सतत सृजनशील यशोदा जी वास्तविक सृजनकर्मी है,इन्हें साधुवाद
संजय भाई बहुत शानदार परिचय दिया है यशोदा जी का
उत्कृष्ट प्रस्तुति
सादर

yashoda Agrawal ने कहा…

आभार भाई संजय जी..
ईश्वर कुछ लेता है तो..
बहुत कुछ देता भी है...
कैंसर ने आवाज छीन ली..पर
उंगलियों में कलम पकड़ने की ताकत भी दी..
पुनः आभार..
सादर..

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा ने कहा…

ईश्वर आपको शक्ति दें।हभारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं दीदी।

विश्वमोहन ने कहा…

आभार इस लेख और यशोदा दी की कविता साझा करने का। ब्लॉग जीवन में मेरी रचना पर पहली प्रतिक्रिया यशोदा दी की ही मिली थी जो दुर्भाग्यवश किसी तकनीकी कारण से मिट गई लेकिन दिल में वह अपनी उस प्रतिक्रिया के साथ अमिट हैं, अमिट रहेंगी। नमन।

शुभा ने कहा…

संजय जी ,बहुत-बहुत आभार आपका ,आदरणीय यशोदा जी से रूबरू करवाने के लिए । आपने सही कहा ,एक बहुत उम्दा लेखिका होने के साथ वे बहुत ही अच्छी पाठक भी है और हमेशा हमारे जैसे छोटे रचनाकारों को प्रोत्साहित करती रहती हैं ,मुझे याद है मेरी भी एक रचना को उन्होंने ही पाँच ल़िकों में स्थान दिया था । यशोदा जी के उत्तम स्वास्थ्य की कामना के साथ ..इति ।

Sweta sinha ने कहा…

संजय जी बहुत सुंदर आलेख लिखा है आपने
आपका हृदयतल से आभार।
..यशोदा दी, अनगिनत नवांकुरों को अपने सहयोग और स्नेह से सींच कर फलने-फूलने का अवसर देती रही हैं।
संघर्ष और सकारात्मकता का सजीव साक्षात उदाहरण यशोदा दी एक बेहद गंभीर और मर्मज्ञ पाठक हैं।
बहुत कम लिखती हैं पर जब लिखती है तो बेहद सराहनीय। उनके बारे में जितना लिखें कम हैं। उनके आशीष से ही ब्लॉग जगत के साहित्य सुधियों से मेरा परिचय संभव हो पाया है।
आपका पुनः धन्यवाद संजय जी।
सादर।

Ritu asooja rishikesh ने कहा…

आदरणीय यशोदा जी ब्लॉग जगत का वो सूत्र हैं ,जिन्होंने सब ब्लॉगरों को सम्मान सहित उनकी रचनाओं को साझा कर पांच लिंको में संजोती रहती हैं ,बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका व योगदान है ,उनका ब्लॉग जगत में , सरहनीय ,यशोदा जी आपके द्वारा सृजित रचना बेहतरीन है।

Subha ने कहा…

We have to read this type of content in the web to know and to teach our children about the facts about the great Venerables.

Vinbharti blog.spot.in ने कहा…

एक खूबसूरत व्यक्तित्व की इतनी सुन्दर जानकारी के लिए बहुत बहुत धन्यवाद

RAKESH KUMAR SRIVASTAVA 'RAHI' ने कहा…

यशोदा बहन के बारे में आपका संक्षिप्त आलेख प्रशंसनीय है. यशोदा बहन को हार्दिक शुभकामनाएँ.

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

नमस्ते,

आपकी यह प्रस्तुति BLOG "पाँच लिंकों का आनंद"
( http://halchalwith5links.blogspot.in ) में
गुरुवार 31 जनवरी 2019 को प्रकाशनार्थ 1294 वें अंक में सम्मिलित की गयी है।

प्रातः 4 बजे के उपरान्त प्रकाशित अंक अवलोकनार्थ उपलब्ध होगा।
चर्चा में शामिल होने के लिए आप सादर आमंत्रित हैं, आइयेगा ज़रूर।
सधन्यवाद।

रवीन्द्र भारद्वाज ने कहा…

तलाशें..उन सफेदपोशों
और सरकारी अमले में से
विभीषणों और जयचंदों को
जो इन आतंकवादियों को
खबरें मुहैय्या करवाते हैं.....यही तो विडम्बना हैं .....
ढेरो शुभकामनाए आपको आदरणीया... हम आपसे प्रेरणा लेते हैं ....आपके कुछ पहलूओ से अनभिज्ञ था, अवगत कराने के लिए आभार ...संजय भास्कर जी ....सुंदर लेख

मन की वीणा ने कहा…

संजय जी सखी यशोदा जी के बारे में आपने बहुत सम्मान जनक जानकारी दी। सादर आभार हृदय तल से आपका।
यशोदा जी ब्लॉग जगत का स्व चालित यंत्र है,ब्लॉग जगत में आने वाले हर नवागन्तुक की पथ प्रदर्शक स्नेह मय सरल और विहंगम दृष्टि की मल्लिका हैं ।
व्यक्ति गत तौर पर शायद बहुत ज्यादा नही जानती उन के बारे में पर व्यवहारिक तौर पर वो बहुत शालिन सहयोगी और विराट व्यक्तित्व की स्वामिनी है। ब्लॉग जगत में आते ही उन्होंने मुझे ढेर सा स्नेह दिया और हाथों हाथ लिया मैं सदा उन की आभारी रहूंगी। सस्नेह सखी यशोदा जी ।

NITU THAKUR ने कहा…

आदरणीय संजय जी ....सखी याशोदा जी के बारे में जितना पढ़ते है , उनके प्रति आदर बढता ही जाता है ....जितना उन्हे समझा उतना ही उन्हें अपने करीब पाया ...खुद के लिये तो सभी मेहनत करते हैं पर वो अपने साथ सब को लेकर चलती हैं ...उनकी यही बात उन्हें सब से जुदा करती हैं ....वे एक सक्षम और दूरदृष्टी वाली महिला हैं , जिन्होने अपनी इच्छा शक्ति के दम पर न जाने कितनों को पहचान दिलाई ...उनका गौरव उन सब का गौरव हैं ...जो उनके आशिर्वाद से उभरे और ब्लॉग जगत में अपनी पहचान बनाई

Sudha Devrani ने कहा…

बहुत बहुत धन्यवाद संजय जी यशोदा जी के बारे में बताने के लिए.... उन्हे जितना जाना जाय उतना कम है । उनकी लिखी रचनाएं हमेशा सारगर्भित और संदेशात्मक होती हैं...मेरी प्रस्तुति को पाँच लिंको के आन्नद में स्थान देकर सर्वप्रथम उन्होंने ही मुझे सभी सुधि लेखकों से मिलवाकर कृतार्थ किया मेरे लिए तो यशोदा जी ब्लॉग जगत की पथप्रदर्शक रही हैं।मैं उनके उत्तम स्वास्थ्य एवं उज्जवल भविष्य की कामना करती हूँ....

Dr Varsha Singh ने कहा…

वास्तव में यशोदा जी जितनी अच्छी कवयित्री हैं,. उतनी ही अच्छी संयोजिका भी.🙏
यशोदा जी पर केंद्रित इस बेहतरीन पोस्ट के लिए आपको बधाई 🌹

यशोदा जी और आपको मेरी ढेरों हार्दिक शुभकामनाएं ❤

ज्योति सिंह ने कहा…

यशोदा जी के बारे मे जानकर बहुत ही अच्छा लगा ,शुक्रिया संजय ,बेहतरीन रचना

Glory Pachnanda ने कहा…

bahut hi badiya rachna likhi ha aapne. pad kar bahut ananad aya .

Job Guru ने कहा…

इतनी सुन्दर जानकारी के लिए बहुत धन्यवाद

अनाम ने कहा…

सुन्दर जानकारी बहुत ही अच्छा लगा ,Kids daily life need