22 जुलाई 2010

जैसे मिल गई चवन्नी भीख में भिखारी से

 मुफ्त में मिला था मैं,

इस देश को उधारी में ,

जैसे मिल गई चवन्नी,

भीख में भिखारी से |

39 टिप्‍पणियां:

कडुवासच ने कहा…

...बहुत खूब!!!

डॉ रजनी मल्होत्रा नैय्यर (लारा) ने कहा…

bahut sunder

रश्मि प्रभा... ने कहा…

waah

Unknown ने कहा…

LAJWAAB KYA BAAT HAI....

Unknown ने कहा…

गजब कि पंक्तियाँ हैं ...

Unknown ने कहा…

आनंद आया पढ़कर...

Unknown ने कहा…

jab pehli baar blog par aaya tha ...

sahi jagah.....aaya hoon..

behtreen hai lekhni........

अंजना ने कहा…

nice

Asha Lata Saxena ने कहा…

very interesting .
asha

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

wonderful

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

wonderful

Saleem Khan ने कहा…

aapne bulaya aur ham chale aaye !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वाह

रचना दीक्षित ने कहा…

sahi hai .

kshama ने कहा…

Bheekh me aur wah bhi bhikhari se...waah!

nilesh mathur ने कहा…

वाह! क्या बात है!

वाणी गीत ने कहा…

मुफ्त में मिली चीजें ...हवा, पानी , धूप , चांदनी कितनी अनमोल हैं ...
आपका जीवन भी ऐसा अनमोल हो जाये ...!
वैसे चवन्नी/अठन्नी आजकल चलन से बहार है इसलिए रुपया बनने की कोशिश करें ..!

नीरज मुसाफ़िर ने कहा…

वाह वाह।

arvind ने कहा…

...बहुत खूब

Unknown ने कहा…

मुफ्त में मिला था मैं,

इस देश को उधारी में ,

....आपने तो अपने उपर शाही उडेल ली!

Shishupal Prajapati ने कहा…

उधार की खाज़ में ब्याज और पड़ गया.
आपने बहुत अच्छा लिखा है.
नज़र नज़र का फेर आपको सलाम करता है.

चन्द्र कुमार सोनी ने कहा…

थोड़े शब्दों में आपने बड़ी बात कही इसके लिए धन्यवाद.
WWW.CHANDERKSONI.BLOGSPOT.COM

मुकेश कुमार सिन्हा ने कहा…

sahi kaha Vani jee ne......:)

SANSKRITJAGAT ने कहा…

शोभनम्

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बेहद सटीक बात कही आपने

रामराम.

VIVEK VK JAIN ने कहा…

sateek baat.

Dr. Zakir Ali Rajnish ने कहा…

गागर में सागर जैसी अभिव्यक्ति है संजय भाई।
बहुत बहुत बधाई।
--------
ये साहस के पुतले ब्लॉगर।
व्यायाम द्वारा बढ़ाएँ शारीरिक क्षमता।

Unknown ने कहा…

सटीक बात कही आपने

Unknown ने कहा…

अंदाज निराला है. आनंद आया पढ़कर.


FIRST TIME UR BLOG

NICE BLOG

Mayurji ने कहा…

good
milte rahenge

mayur

Indranil Bhattacharjee ........."सैल" ने कहा…

khudse itni narazgi acchhi baat nahi hai ...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

वाह .. क्या बात है संजय जी ... बहुत खूब लिखा है ...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सटीक बात ....

pritima vats ने कहा…

the blog decoration is supereb.posts are also good.

पूनम श्रीवास्तव ने कहा…

ischoti par dam dar kavita ke dwara bada sandesh.
poonam

संजय भास्‍कर ने कहा…

---"धन्यवाद"-- पोस्ट पढने के लिए...

संजय भास्‍कर ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.
संजय भास्‍कर ने कहा…

---" शुक्रिया "-- अपना समय देने के लिए...


धन्यवाद
संजय भास्कर

हर्षिता ने कहा…

बहुत खूब लिखा है