22 दिसंबर 2010

200 फोलोवर ...सभी ब्लोगेर साथियों और ब्लॉगस्पॉट का तहे दिल से शुक्रिया ...संजय भास्कर

मुझे  यह  बताते हुए बहुत ही ख़ुशी हो रही है. आज बलाग जगत में  मेरे  समर्थको (Followers) की संख्या 2०० हो गई है  
मैं आभार प्रकट करना चाहता हूँ , मैं और मेरी कविताये  वाली लेखिका संध्या शर्मा  जी  की  , जिन्होंने आदत...... मुस्कुराने  की का  दोसौवांफोलोवर बनकर इस नाचीज़ को भी ब्लॉग जगत के विशिष्ठ ब्लोगर्स की श्रेणी में ला खड़ा कर दिया ।

इसी पर चंद लाइन पेश करता हूँ उम्मीद है आपको पसंद आएगी 

    आनंदित है रोम रोम, पाकर प्यार आपका
थैंक्स, शुक्रिया, मेहरबानी, छोटे पड़ गए
कैसे करूँ प्रकट आभार आपका
नहीं उतरेगा कर्ज इस जन्म, मुझसे 
संजय रहेगा सदा कर्जदार आपका।
 
इसी पर एक छोटी सी कविता  पेश करता हूँ आपके सामने
शुक्रिया ब्लॉगस्पॉट
तेरा बहुत शुक्रिया
मेरे जीवन में एक तरंग लाए हो तुम
लगता खुशियां अपने संग लाए हो तुम
मुझे साथ खड़े हैं दो सौ दिमाग
चार  सौ आंखे, चार सौ हाथ
जारी है गिनती, मेरी बढ़ती खुशियों की
बढ़ाने को मेरा हौसला हर कदम पर
शुक्रिया ब्लॉगस्पॉट!
बनी रहेगी आदत........मुस्कुराने की मेरी
तेरे संग ब्लॉगस्पॉट
शुक्रिया,.बहुत शुक्रिया..

.......आमीन.......

साथ ही आप सभी पेश है मेरी दो सौंवी फ़ॉलोअर संध्या शर्मा जी की एक सुंदर कविता 

" KAVITA "

" कविता केवल कविता नहीं होती है,
हर कवि के मन का दर्पण होती है..
जब वो रोता है तो रोती भी है,
और हँसता है तो हंसती भी है,
कभी ये रोटी को तरसती भी है,
कभी बरखा बन के बरसती भी है,
कभी फूल बन के महकती भी है,
कभी शूल बन के चुभती भी है,
ये युवा मन की शक्ति भी है,
और कभी ईश्वर की भक्ति भी है,
कभी इसमें कोमल सी प्रीति भी है,
और कभी जग से विरक्ति भी है,
कभी इसमें उजाला, अँधेरा भी है,
कभी इसको जुल्मों  ने  घेरा भी है,
कभी इसमें अहसास मेरा भी है,
कभी इसमें तेरा बसेरा है,"         


.........................संजय कुमार भास्कर 

114 टिप्‍पणियां:

वन्दना ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें……………सुन्दर अभिव्यक्ति।

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें……………सुन्दर अभिव्यक्ति।

Preeti ने कहा…

ला-जवाब" जबर्दस्त!!
ढेर सारी शुभकामनायें.

Preeti ने कहा…

kamla ho gya ...sanjay
dohra shatak........bahutkhoob
......lage raho

अन्तर सोहिल ने कहा…

एक गठरी बांधकर बधाईयां
आपके फॉलोवर्स की संख्यां नये साल तक 200 से 2000 हो जाये यही हार्दिक कामना है।

प्रणाम स्वीकार करें

shekhar suman ने कहा…

बधाईयाँ जी बधाईयाँ...
तेंदुलकर को फोन घुमाईये और उनको भी बता दीजिये की वो अकेले नहीं है २०० वाले... हा हा हा...

मेरा ब्लॉग ही गायब हो गया वरना मैं भी ज्यादा पीछे नहीं था..
हा हा हा...

मंजुला ने कहा…

मेरी तरफ से भी तुमको बहुत बहुत शुभकामनाये ........बधाई ...

rashmi ravija ने कहा…

बहुत बहुत बधाई .....इनकी संख्या जल्दी ही ५०० तक पहुँच जाए ....शुभकामनाएं

मंजुला ने कहा…

और हाँ कविता भी बहुत अच्छी है ...ऐसे ही लिखते रहिये खुश रहिये हमेशा ...........

सतीश सक्सेना ने कहा…

शाबाश संजय ! शुभकामनायें !

babanpandey ने कहा…

i m one of them /
congratulations//

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

मुबारक हो संजय..

संजय भास्कर ने कहा…

@ वंदना जी..
@ संजय कुमार चौरसिया जी.
@ प्रीती जी..
@ अन्तर सोहिल जी..
बहुत बहुत धन्यवाद आप सभी..
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ शेखर भाई
@ मंजुला जी..
@ रश्मि रविजा जी..
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत शुक्रिया जिन्होंने अपने
बेशकीमती विचारों की टिप्पणियां दी
और मेरा हौसला बढाया
ब्लॉग को पढने और सराह कर उत्साहवर्धन के लिए शुक्रिया.
संजय भास्कर

ajit gupta ने कहा…

लीजिए आपको दो सौ के भी पार ले जाते हैं। बधाइयां।

Bhushan ने कहा…

संजय जी आप ब्लॉग जगत के 'तेंदुलकर' हैं - 'संजय तेंदुलकर''

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हमारी अग्रिम शुभकामनायें, 2000 होने के लिये।

albela khatri ने कहा…

badhaai 201 baar

1 is sundar kavita ke liye aur 200 aapke 200 follow. ke liye

badhaai man se

મલખાન સિંહ ने कहा…

बधाई संजय तेंदुलकर जी... कृपया मेरी पुरानी कविता को भी अपडेट कर लें.
सौ कि जगह दो सौ और दो सौ कि जगह चार सौ.

शुक्रिया ऐ ब्लॉगस्पॉट
तेरा बहुत शुक्रिया
मेरे जीवन में एक तरंग लाए हो तुम
खुशियां अपने संग लाए हो तुम
मुझे साथ खड़े हैं दो सौ दिमाग
चार सौ आंखे, चार सौ हाथ
जारी है गिनती, मेरी बढ़ती खुशियों की
बढ़ाने को मेरा हौसला, हर कदम पर
शुक्रिया ऐ ब्लॉगस्पॉट!
बनी रहेगी आदत........मुस्कुराने की मेरी
तेरे संग ऐ ब्लॉगस्पॉट
शुक्रिया,.बहुत शुक्रिया..

.......आमीन.......

नरेश सिह राठौड़ ने कहा…

ये आंकड़ा निरंतर बढ़ता रहे है यही कामना है | सुंदर कविता हेतु आभार |

केवल राम ने कहा…

संजय भाई बहुत ख़ुशी की बात है ...पर इसके साथ - साथ एक बात कहूँगा अपनी मुस्कराने की आदत को मत भूलना ....और आप निरंतर प्रगति करें मेरी यही शुभकामना है ....इसी शुभकामना के साथ अग्रिम शुभकामनायें 2222 अनुसरणकर्ता के लिए .....

Kunwar Kusumesh ने कहा…

२०० followers पूरा करने कि बधाई,सुखी रहो,तरक्की करो.

आलोकिता ने कहा…

Congrats congrats congrats congrats congrats...........ufff main 200 baar nahi likh sakti
congrats=congrats*40
to 200 times ho gaye na

आलोकिता ने कहा…

oh maine 3 comments diye the ek hi najar aa raha hai baki 2 kahan gaye?

आलोकिता ने कहा…

fir se likhna padega?
okay aapko aisa karna tha to pahle batana chahiye tha na main thode din wait kar leti 199 ho jate tab follow kar leti (par batate kaise? pahchan to thi hi nai. so aapki galti nai hai)ab jaldi se 4 digit mein pahuchiye yahi dua hai meri sachche dil se

'उदय' ने कहा…

... double century ... bahut bahut badhaai ... !!!

'उदय' ने कहा…

.... sandhyaa ji ko bhee badhaai !!!

'उदय' ने कहा…

... top blogger ... !!!

उपेन्द्र ' उपेन ' ने कहा…

बहुत बहुत शुभकामनाये ........बधाई ...कविता क्या है .उसे कबिता में बखूबी संध्या जी ने दिखाया है

इंतजार

वन्दना ने कहा…

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (23/12/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।
http://charchamanch.uchcharan.com

sada ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई ...इस उपलब्धि के लिये ...।

sada ने कहा…

सुन्‍दर शब्‍द रचना ।

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें,सुंदर कविता!

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत बहुत बधाई संजय...एवं अनेक शुभकामनाएँ.

ऐसे ही अग्रसर रहें.

वीना ने कहा…

बहुत-बहुत बधाई....यह संख्या जल्दी ही आगे बढ़े....

unkavi ने कहा…

SACHIN KE 200 par khushi hui thee.aapke 200 par KHUSHEE ho rahee hai.badhaee.

संजय भास्कर ने कहा…

@ सतीश सक्सेना जी..
@ बबंपंदेय जी..
@ अरुण चन्द्र रॉय जी..

@ अजित गुप्ता जी..
बहुत बहुत धन्यवाद अजित गुप्ता जी..
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ भूषण जी..
@ प्रवीण पाण्डेय जी..
@ अलबेला खत्री जी..
@ मलखान जी..
शुक्रिया,.बहुत शुक्रिया..
@ नरेश सिह राठौड़ जी..
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत शुक्रिया जिन्होंने अपने
बेशकीमती विचारों की टिप्पणियां दी
और मेरा हौसला बढाया
ब्लॉग को पढने और सराह कर उत्साहवर्धन के लिए शुक्रिया.
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ केवल राम जी..

केवल भाई अपनी मुस्कराने की आदत बनी रहेगी
..अपना आशीर्वाद यूँ ही बरकरार रखना इस नाचीज पर ...ताकि कदम दर कदम ...आपके साथ चल सकूँ ...आप सब की टिप्पणियाँ मेरे लेखन को सार्थकता की और ले जाएँगी ....आत्मविश्लेषण का अवसर प्रदान करेगी ...आपका आभारी हूँ ....बहुत - बहुत धन्यवाद

संजय भास्कर ने कहा…

@ कुंवर कुसुमेश जी..
@ अलोकिता जी..
@ उदय जी..

..अपना आशीर्वाद यूँ ही बरकरार रखना इस नाचीज पर ...ताकि कदम दर कदम ...आपके साथ चल सकूँ ...आप सब की टिप्पणियाँ मेरे लेखन को सार्थकता की और ले जाएँगी ....आत्मविश्लेषण का अवसर प्रदान करेगी ...आपका आभारी हूँ ....बहुत - बहुत धन्यवाद

Rahul Singh ने कहा…

अब आपको पढ़ते हुए, कम से कम दो सैकड़े का आनंद रहेगा.

डॉ टी एस दराल ने कहा…

इतने कम समय में २०० का आंकड़ा पार करना वास्तव में काबिले तारीफ है ।
बहुत बधाई और शुभकामनायें ।

Kulwant Happy ने कहा…

जय हो संजय भास्‍कर बाबू की

Dr. Ashok palmist blog ने कहा…

बहुत बहुत शुभकामनायेँ संजय जी और कवितायेँ भी अच्छी हैँ।

satish upadhyay ने कहा…

badhai sanjay...isi tarah chamakate raho ''bhaskar''' ban kar

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

हार्दिक बधाई और इस तरह लिखते रहिए और मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ...

लेखिका - Rashmi Swaroop ने कहा…

Welocme and congrats bro!
bahut aage jaoge aap.. :)

रचना दीक्षित ने कहा…

सबसे पहले तो संजय जी २०० फालोअर से आगे निकलने के लिए. संध्या जी की कविता भी उम्दा है. जल्दी से एक गिफ्ट हैम्पर भिजवाइए संध्या जी को.

sandhya ने कहा…

धन्यवाद संजयजी
"कैसे करूँ प्रकट आभार आपका
नहीं उतरेगा कर्ज इस जन्म, मुझसे ..."
सबसे पहले तो आपका तहेदिल से आभार .........
मेरी "कविता" को इतना ख़ास बनाने के लिए ....
शायद आज मेरे पास भी शब्द कम पड़ रहे हैं, आपका धन्यवाद करने के लिए ...
"और उन सभी का भी शुक्रिया जिन्होंने मेरी कविता को सराहा है "
उम्मीद करती हूँ की आपकी तरह मुझे भी फोलोवर्स सराहेंगे ...........
"संध्या शर्मा"

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आदरणीय संजय भाई मेरी पोस्ट "जानिए पासपोर्ट बनवाने के लिए हर जरूरी बात" देखियेगा और अपने अनुपम विचारों से हमारा मार्गदर्शन करें.

आप भी सादर आमंत्रित हैं,
http://sawaisinghrajprohit.blogspot.com पर आकर
हमारा हौसला बढाऐ और हमें भी धन्य करें .......आपका अपना सवाई

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

आपके साथ संध्या जी को भी बधाई..

kshama ने कहा…

Bahut,bahut mubarak!
Sandhya ji kee kavita bhi behad khoobsoorat hai!

Sharma ,Amit ने कहा…

Congrats for hitting a double century ... keep going !!!

Poorviya ने कहा…

बहुत बहुत बधाई .

Anjana (Gudia) ने कहा…

Congratulations for 200 + followers and all the best for future! Beautiful poem :-)

"पलाश" ने कहा…

बहुत बहुत बधाई ।
ईश्वर यूं ही आपको जीवन के हर पहलू मे तरक्की दे ।

हार्दिक शुभकामनाये

S.VIKRAM ने कहा…

congrats sanjay ji....

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बहुत बहुत बधाई .....इनकी संख्या जल्दी ही 1000 तक पहुँच जाए ....शुभकामनाएं ...

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत बहुत बधाई ओर शुभकामनाऎं जी, चलिये अब जल्दी से ३०० को भी छु ले फ़िर ४,५.६ यानि खुब तरक्की करे, धन्यवाद

ashish ने कहा…

sundar aur satik abhivyakti.

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

संजय जी ..२०० फौलोअर बनने के लिए बधाई ..पर दो सौ दिमाग के साथ चार सौ आँखें और चार सौ हाथ साथ हैं ....दो सौ ही क्यों ?

संजय भास्कर ने कहा…

संगीता जी गलती सुधार ली गई है

संजय भास्कर ने कहा…

@ उपेन्द्र ' उपेन ' जी..
@ वंदना जी..
@ सदा जी..
@ डा. अरुणा कपूर जी
@ समीर लाल जी..
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ वंदना जी..
...........मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए आपका बहुत बहुत आभार !

संजय भास्कर ने कहा…

@ वीणा जी..
@ हर्षवर्धन जी..
@ राहुल सिंह जी..
@ टी एस दाराल जी..
@ कुलवंत हैप्पी जी..
@ Dr. अशोक जी..
@ सतीश उपाध्याय जी..
.अपना आशीर्वाद यूँ ही बरकरार रखना इस नाचीज पर ...ताकि कदम दर कदम ...आपके साथ चल सकूँ ...आप सब की टिप्पणियाँ मेरे लेखन को सार्थकता की और ले जाएँगी ....आत्मविश्लेषण का अवसर प्रदान करेगी ...आपका आभारी हूँ ....बहुत - बहुत धन्यवाद

om ने कहा…

हार्दिक बधाई और इस तरह लिखते रहिए और मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ...

om ने कहा…

कविता बहुत अच्छी है.....संध्या जी बहुत बहुत बधाई

anjana ने कहा…

wah..wah...

अनुपमा पाठक ने कहा…

सुन्दर पोस्ट!
हार्दिक शुभकामनाएं....!!!!

ज्ञानचंद मर्मज्ञ ने कहा…

ढेरों बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
-ज्ञानचंद मर्मज्ञ

कविता रावत ने कहा…

हार्दिक बधाई .... यूँ ही मिलकर कारवां आगे बढ़ता जाएगा ......

कविता रावत ने कहा…

कविता केवल कविता नहीं होती है,
हर कवि के मन का दर्पण होती है..
जब वो रोता है तो रोती भी है,
और हँसता है तो हंसती भी है,
कभी ये रोटी को तरसती भी है,
कभी बरखा बन के बरसती भी है,
कभी फूल बन के महकती भी है,
....bahut sundar panktyan

तिलक राज कपूर ने कहा…

दिल से बधाईयॉं; ईश्‍वर करे ये इस वर्ष फिर 200 गुना जाये। और उसके अगल साल; और उसके अगले साल....।

Ankur jain ने कहा…

shubhkamnayen.....

संजय भास्कर ने कहा…

@ सवाई सिंह राजपुरोहित जी..
@ रश्मि स्वरुप जी..
@ रचना दीक्षित जी..
जरूर रचना जी गिफ्ट हैम्पर जरूर भिजवायेगे
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ संध्या जी..
मैं आभार प्रकट करना चाहता हूँ , मैं और मेरी कविताये वाली लेखिका संध्या शर्मा जी की , जिन्होंने आदत...... मुस्कुराने की का दोसौवांफोलोवर बनकर इस नाचीज़ को भी ब्लॉग जगत के विशिष्ठ ब्लोगर्स की श्रेणी में ला खड़ा कर दिया ।

संजय भास्कर ने कहा…

@ भारतीय नागरिक जी..
@ क्षमा जी..
@ अमित शर्मा जी..
@ पूर्वीय जी..
@ अंजना जी..
@ अपर्णा पलाश जी..
@ एस विक्रम
आप सबका शुक्रिया जिन्होंने अपने
बेशकीमती विचारों की टिप्पणियां दी
और मेरा हौसला बढाया

rakesh gupta ने कहा…

वन्दे मातरम संजय जी,
बहुत ही उम्दा है आपका लेखन........ बेहतरीन कविता

Ravindra Ravi ने कहा…

संजय जी हार्दिक शुभकामनाये. संध्या शर्माजी की कविता बहुत सुन्दर है.

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत बहुत बधाई जल्दी हे ये सँख्या हजारों मे पहुँचे। दोनो रचनायें बहुत अच्छी लगी। आशीर्वाद।

mahendra verma ने कहा…

आप तो संजय भी हैं और भास्कर भी अर्थात सब कुछ देखने वाले और सब कुछ दिखाने वाले, फिर क्यों न करें सब आपका अनुसरण।

इस उपलब्धि के लिए हार्दिक बधाई और ढेर सारी शुभकामनाएं।

संध्या शर्मा जी को एक अच्छी कविता प्रस्तुत करने के लिए बधाई।

Rewa ने कहा…

meri taraf say apko dhero shubhkamnayen......

एस.एम.मासूम ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें

हर्षिता ने कहा…

बधाई एवं शुभकामनाएं अत्यधिक तरक्की के लिए और ढ़ेर सारा स्नेह भाई।

Rahul ने कहा…

मुबारक हो संजय जी 2nd सेंचरी लगाने पे

Suman ने कहा…

meri taraf se bhi anek shubhkamanaye............

संजय भास्कर ने कहा…

@ दिगम्बर नासवा जी..
@ राज भाटिया जी..
@ आशीष जी..
@ संगीता स्वरुप गीत जी..
@ ॐ जी..
@ अंजना जी..
@ अनुपमा पाठक जी..
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

mark rai ने कहा…

badhai...sanjay ji karwan aise hi badhte rahna chahiye.....

प्रकाश ⎝⎝पंकज⎠⎠ ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें……
लिखते राहें ... हमें पढवाते रहें

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

मुबारकां जी मुबारकां।

---------
मोबाइल चार्ज करने के लाजवाब ट्रिक्‍स।
एग्रीगेटर: यानी एक आंख से देखने वाला।

संजय भास्कर ने कहा…

@ ज्ञानचंद मर्मज्ञ जी..
@ कविता रावत जी..
@ तिलक राज कपूर जी..
@ अंकुर जैन जी..
@ राकेश गुप्ता जी..
@ रविन्द्र रवि जी..
@ निर्मला कपिला जी..

ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

विरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा…

Sanjay ji ..congrates you on this occasion.

विरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा…

संध्या शर्मा जी की कविता की तारीफ़ के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। इतनी अच्छी कविता लिखी है।
पढ़कर बहुत ख़ुशी हुई।

दीपक बाबा ने कहा…

संजय भाई, कोशिश तो थी........ १०० टीप मेरी रहती.......... बहरहाल......... बधाई स्वीकार करें........... मेहँदी है.. रचने के बाद रंग लाती है....... आपकी महनत रंग लाइ..........

शोभना चौरे ने कहा…

bahut bahut badhai aur shubhkamnaye
isia tarh apki yah yatr anvart chlti rahe

usha rai ने कहा…

बहुत बहुत बधाई ! मन की बातों की सुंदर अभिव्यक्ति !

अशोक लालवानी ने कहा…

रचना के संसार में शब्दों पे उतारते है भाव...लिखते रहिये...

संजय भास्कर ने कहा…

@ महेंदर वर्मा जी..
@ रेवा जी..
@ एस.एम.मासूम जी..
@ हर्षिता जी..
@ राहुल जी..
@ सुमन जी..
@ मार्क राय जी..
ये आप सभी का प्यार और आशीर्वाद है जिसकी वजह से मैं यहाँ तक पहुंचा सका
बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ प्रकाश पंकज जी..
@ ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ जी..
@ विरेन्द्र सिंह चौहान जी..
बहुत बहुत धन्यवाद वीरेंदर जी..
@ दीपक बाबा जी..
@ शोभना चोरे जी..
अपना आशीर्वाद यूँ ही बरकरार रखना इस नाचीज पर ...ताकि कदम दर कदम ...आपके साथ चल सकूँ ...आप सब की टिप्पणियाँ मेरे लेखन को सार्थकता की और ले जाएँगी ....आत्मविश्लेषण का अवसर प्रदान करेगी ...आपका आभारी हूँ ....बहुत - बहुत धन्यवाद

आलोकिता ने कहा…

wooooow 99 comments! hmmm chaliye main satak pura kiye deti hun aapke badhaiyon ka congrats

आलोकिता ने कहा…

satak to pura ho gaya par mummy kahti hai 101 subh number hota hai so.......ek aur badhai aur ho gaye 101 comments

sandhya ने कहा…

सबसे पहले तो संजय भास्करजी को मेरी और से ढेर-ढेर सारी शुभकामनायें .....
आपकी इतनी तारीफ देखकर मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है, ईश्वर आपको इससे भी ज्यादा कामयाबी दे..
ये मेरी हार्दिक - हार्दिक कामना है आपके लिए...
और हाँ आपके सभी followers का भी बहुत - बहुत शुक्रिया जिन्होंने मेरी कविता को इतना प्यार दिया .....

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें……ab to 207 ho gye.......sach me tendulkar ho:)

Babli ने कहा…

आपको एवं आपके परिवार को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनायें !

अरूण साथी ने कहा…

संजय भाई
यह है आपके मेहनत की कमाई

अब नहीं चलेगा बहाना

बताईये कब खिला रहे मिटाई.

Dorothy ने कहा…

क्रिसमस की शांति उल्लास और मेलप्रेम के
आशीषमय उजास से
आलोकित हो जीवन की हर दिशा
क्रिसमस के आनंद से सुवासित हो
जीवन का हर पथ.

आपको सपरिवार क्रिसमस की ढेरों शुभ कामनाएं

सादर
डोरोथी

परमजीत सिँह बाली ने कहा…

हार्दिक शुभकामनायें……

POOJA... ने कहा…

a big congrats... and all the best the 300...
धन्यवाद कहने का अंदाज़ भी गज़ब है...
too good bhai... keep it up...

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

संजयजी आपको बधाईयां...
आपके फालोअर लिस्ट के समान ही आपकी प्रसन्नता भी निरन्तर बढती रहे और बढती ही रहे ।
धन्यवाद सहित...
मेरा परिचय-
http://najariya.blogspot.com
नजरिया.

जिन्दगी के रंग से तो आप मिल ही चुके हैं.

Akshita (Pakhi) ने कहा…

बधाई....पर मिठाई कब मिलेगी.

______________________
'पाखी की दुनिया' में "तन्वी आज दो माह की.."

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

संजय भाई, इस शमा को जलाए रखें।

---------
अंधविश्‍वासी तथा मूर्ख में फर्क।
मासिक धर्म : एक कुदरती प्रक्रिया।

इंदु पुरी गोस्वामी ने कहा…

http://books.google.co.in/books?id=scBN6lPYX74C&lpg=PP1&pg=PP1#v=onepage&q&f
अच्छी अच्छी साहित्यिक बुक्स है इस साईट पर जो भी पढ़ना चाहे.
'अनाथ' कविता में अनाथ का दर्द दिखाया.फिर.....क्या किया उनके लिए? क्या कुछ???? कोशिश करने पर हम कर सकते हैं बहुत कुछ

amit destiny! ने कहा…

ise kehte hai sahi mayne mein na sirf kavita likhna balki kavita ko mehsoos karna.......
atma mein kavita ghol di bhaiya...
behad khoobsurat rachna....



aur naya saal mubarak apko aur apke pariwaar ko........
Amit Kumar Sendane
Amit Destiny!

दिगम्बर नासवा ने कहा…

जबर्दस्त ... संजय जी आपको बधाईयां...