18 दिसंबर 2014

पुरानी डायरी के पन्ने : )

                                                 चित्र - ( गूगल से साभार )
अक्सर जब कभी मिल जाती है
पुरानी डायरी
तब लगभग हर उस शख्स के चेहरे पर
मुस्कराहट आ जाती है
जिसने कभी इस डायरी में
कुछ सपने संजोये होंगे !                          
डायरी में कैद होते है चंद खुबसूरत लब्ज,
कुछ बीती हुई यादें
कुछ ऐसी पंक्तियाँ
जिनमे में जिक्र होता है
कुछ पुरानी यादों का
हर उन खुबसूरत लम्हों का
तुम्हारी हँसी का
जो कैद होता है
डायरी के उन पन्नो में
ऐसा हर याद का जिक्र जो
समय के साथ धुँधली याद बन गई है !!
और आज नजर गई जब
उस डायरी पर
तब एक लम्हे में जिंदगी जी
लेने का अहसास
मुस्कुराहटें कुछ तस्वीरें
और कुछ अधूरी सी कवितायेँ
और बहुत कुछ बीते कल के बारे में
 पुरानी यादों को ताजा कर गया ...... !!

( C ) संजय भास्कर  



41 टिप्‍पणियां:

Shiv Raj Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना

Rewa tibrewal ने कहा…

wah bahut sundar shabd diye hain tumne....aisa laga jaise main khud tumhari diary padh rahi hun...

shashi purwar ने कहा…

सुन्दर रचना पुरानी डायरी के पन्ने सदैव महकते रहतें है और फड़फ़ते पन्ने मुस्कान ले आते हैं

राजीव कुमार झा ने कहा…

बहुत सुन्दर.पुरानी डायरी के पन्ने कई स्मृतियों को संजोये रखते है.
नई पोस्ट : आदि ग्रंथों की ओर - दो शापों की टकराहट

Digamber Naswa ने कहा…

डाईरी तो बहाना होता है पुरानी यादों में गोता लगाने का ... वो सब कुछ जी लेने का जो मन के बहुत करीब होता है हरदम ...
लाजवाब भावपूर्ण रचना है संजय जी ....

vibha rani Shrivastava ने कहा…

लाजवाब भावपूर्ण
बहुत सुन्दर रचना

Malhotra Vimmi ने कहा…

बेहद खूबसूरत रचना।
पुरानी डायरी एक नयी ताजगी का श्रोत भी तो है।

हिमकर श्याम ने कहा…

खूबसूरत अभिव्यक्ति...डायरी में बहुत सारी बातें दर्ज रहती हैं। जीवन के ढेरों अनुभव, गुजरे जमाने की यादें, कही-अनकही बातें, मन की अनसुलझी गुत्थियाँ, और भी बहुत कुछ।

आजकल आप कम नजर आते हैं...यहाँ भी, वहाँ भी.....

Amrita Tanmay ने कहा…


एक लम्हा में जीने का अहसास...बेहद खास..

Upasna Siag ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना और बहुत सुन्दर पुरानी डायरी के पन्ने...

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

बहुत सुन्दर अनुभूति जगा रहे हैं आपक ये शब्द!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

बीते लम्हों को फिर से जीने की यात्रा!!

Mahesh Barmate ने कहा…

बहुटी सुन्दर संजय जी

पुरानी डायरी को पढ़ना बहुत सुखद होता है
हर अल्फाज़ में बीती यादों का आशियाना समाहित होता है।

Ankur Jain ने कहा…

सच पुरानी डायरी मानो हमारे अतीत का दर्पण ही होती है जिसका एक पन्ना देखते ही डायरी में लिखी तमाम इबारतें, स्मृतियां चख लेने को जी चाहता है।
बहुत सुंदर रचना।

Anita ने कहा…

वाकई...डायरी बीते दिनों का दस्तावेज है...यादों का अलबम है

latA chunnU ने कहा…

बेहद खूबसूरत अभिव्यक्ति।

Lekhika 'Pari M Shlok' ने कहा…

behad lajawaab abhivyakti.....saaransh samay ka me bhi aapki rachnaayein padhi.badhayi aapko behad umda rachnaayein hai usme....shubhkanayein

अल्पना वर्मा ने कहा…

पुरानी यादें कैद हो जाती हैं डायरी में...अच्छी रचना .

Sanjay Kumar Garg ने कहा…

आदरणीया संजय जी! सुन्दर प्रस्तुति "डायरी" के बारे में! साभार!
धरती की गोद

Sanghsheel 'Sagar' ने कहा…

बहुत सुन्दर डायरी का अहसास।
मेरी सोच मेरी मंजिल

Kamal Upadhyay ने कहा…

हमने तो आज तक डायरी रक्खी ही नहीं

Anusha Mishra ने कहा…

सच में डायरी जिंदगी के खास लम्हों को यादें बना देती है।।
सुंदर अभिव्यक्ति

mahendra verma ने कहा…

जैसे अतीत के सागर में गोता लगाना....!

Digamber Naswa ने कहा…

आपको और परिवार में सभी को नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ...

Kavita Rawat ने कहा…

आपको भी सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!

विशाल चर्चित ने कहा…

अत्यंत सुन्दर रचना...नववर्ष मंगलमय हो !!!

Saru Singhal ने कहा…

Bahut sundar.

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...

राजेंद्र कुमार ने कहा…

आपको सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Lekhika 'Pari M Shlok' ने कहा…

Ati sunder....nav varsh mangalmay ho..badhayi...

abhishek shukla ने कहा…

सर, कविता उत्तम लगी, नए की प्रतीक्षा में सादर।

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

बहुत खूबसूरत कविता |आभार संजय जी

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

बहुत खूबसूरत कविता |आभार संजय जी

harshita ने कहा…

nice post

प्रभात ने कहा…

बहुत सटीक रचना ........बहुत खूब, आपकी रचनायें व लेख बेहद सुन्दर और प्रसंशनीय हैं..

harshita ने कहा…

पुरानी डायरी के पन्नो में बहुत सी यादें मिल जाती हैं

Sneha Gupta ने कहा…

Bahut pyari rachna hai Sanjay Ji :)

Sanjay Tripathi ने कहा…

मेरा अनुभव भी आपके जैसा ही है। सुंदर प्रस्तुति!

अर्यमन चेतस पाण्डेय ने कहा…

मुझे आपकी पुरानी डायरी का कलेवर और उसके स्याही से रँगे पन्ने, दोनों ही खूबसूरत लगे... अब आता रहूँगा.. :)

Nirmal Singh ने कहा…

सच में डायरी जिंदगी के खास लम्हों को यादें बना देती है।।
सुंदर अभिव्यक्ति

Meena Bhardwaj ने कहा…

अति सुन्दर‎ .....,वास्तव में मन के बहुत करीब होती है पुरानी डायरी .