25 अक्तूबर 2010

.............मेरी प्यारी बहना ?


 मेरी प्यारी बहना 
आज मन कर रहा है कि मैं दू तुम्हे कुछ न कुछ 
पर क्या दू है ही क्या पास मेरे 
हूँ तो एक छोटा सा कवि
कविता ही है मेरे पास 
दुआए ही दे सकता हूँ खुदा कि इच्छा से 
जो रक्खे सदा तुम्हे खुश 
तुम्हारे नए जीवन में ,
मेरी दुआ है तू भारती भारतीयता का सदा पालन करें | 
तू जिस आँगन में जाये वहाँ सदा रौशनी फैलाये 
धर्म करम मान मर्यादा से घर को सजाये ,
तेरे आँगन  में सदा गुलाब खुशियों के  महके 
तू सबको अपनाये प्यार सभी बड़े बुजुर्गो का पाए |
येही दुआ है तेरे लिए  मेरी तरफ से 
निवेदन है तेरे चरणों में 
बहना तू सदा मुस्कुराती रहे 
खुदा से गुजारिश है 
तेरे हिस्से के सारे गम मुझे मिले 
हो मेरे हिस्से कि सारी खुशिया तेरी ,
तेरे हाथो में है अब लाज तेरे माता पिता भाइयो की |
बहना अपने नए घर जा कर हमे कभी न भुलाना ,
तेरे भाई की दुआ है तेरे लिए तेरी हर खुशी के लिए 
अपनी जान भी न्योछावर कर देंगे |
............एक भाई का वादा है अपनी बहन से !
चित्र :- ( गूगल से साभार  )

..........संजय कुमार भास्कर 


117 टिप्‍पणियां:

यश(वन्त) ने कहा…

खुदा से गुजारिश है
तेरे हिस्से के सारे गम मुझे मिले
हो मेरे हिस्से कि सारी खुशिया तेरी ,

एक भाई के अपनी बहन के प्रति शानदार और सार्थक उदगार.बधाई.

निर्मला कपिला ने कहा…

बहन को भाई से स्नेह और आशीर्वाद के सिवा क्या चाहिये। भाई बहन का प्यार बना रहे -- बहुत बहुत आशीर्वाद।

POOJA... ने कहा…

sacxh kahu... aaj ankhe nam ho gayi ye kavita padhkar... aagey kuch nahi kah saktee... bahut badhiya Sanjay jee...

Asha ने कहा…

बहन को और चाहिए ही क्या ? इससे अच्छी सौगात हो ही नहीं सकती |बधाई
आशा

एस.एम.मासूम ने कहा…

बहना अपने नए घर जा कर हमे कभी न भुलाना ,
तेरे भाई की दुआ है तेरे लिए तेरी हर खुशी के लिए
अपनी जान भी न्योछावर कर देंगे

माधव( Madhav) ने कहा…

full of innocence and love

Bhushan ने कहा…

बड़े ध्यान से कविता को पढ़ गया हूँ. त्योहार पर बहन को बढ़िया उपहार देना मत भूलना संजय जी, इनका अपना महत्व है

arun c roy ने कहा…

भाई बहन का प्यार बना रहे -- बहुत बहुत आशीर्वाद।

Anand ने कहा…

good message...good wishes for all sister..keep it up sanjay ..

dipayan ने कहा…

बहन जब ब्याह कर जाती है, तो एक भाई के दिल पर क्या गुजरती है वो एक भाई ही समझ सकता है । ना वो अपने मन की दुख़ किसी को बता सकता है, ना सबके सामने रो सकता है । बस मन ही मन अपने बहना के खुशी लिये खु़दा से दुआ माँगता है ।

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

प्यारी बहिन के लिए बढ़िया शब्द भाव .... बढ़िया रचना प्रस्तुति.... बधाई

Aashu ने कहा…

बहन के लिए हर भाई के मन में दुआओं का अम्बार होता है. ऐसी ही कुछ दुआएं आपने यहाँ पर रख दिया है. शायद दिल का बस एक कोना ही लिखा गया है मगर फिर भी असरदार है!

http://draashu.blogspot.com/2010/10/blog-post_25.html

अशोक जमनानी ने कहा…

Bhawnao ki bahut sunder abhivyakti

दिगम्बर नासवा ने कहा…

भाई के जज्बातों को बहुत गहराई से उतारा है इस रचना में आपने संजय जी ...
बहुत लाजवाब ...

ZEAL ने कहा…

.

It's a lovely poem . A beautiful gift to a sister from a wonderful brother like you Sanjay.

.

रानीविशाल ने कहा…

बहन भाई का रिश्ता भी कितना खुबसूरत होता है न .....दोनों के दिलों में एक दुसरे के लिए दुआओं का अपार सागर और एक दुसरे की ख़ुशी पर सब कुछ न्योछावर कर देने की चेष्ठा होती है , ऐसा ही भाव आपकी कविता में भी है .
भाई बहन का यह स्नेह सदैव यू ही बना रहे ............शुभकामनाएँ

वन्दना ने कहा…

इससे सुन्दर सौगात और क्या होगी…………बहुत सुन्दर भावनायें।

arvind ने कहा…

हूँ तो एक छोटा सा कवि
कविता ही है मेरे पास
दुआए ही दे सकता हूँ खुदा कि इच्छा से
...sab kuchh to ho hi gayaa...our kyaa chaahiye...bahut badhiya post.

Preeti ने कहा…

प्यारी बहिन के लिए बढ़िया शब्द भाव .... बढ़िया रचना

deepak saini ने कहा…

हर भाई के मन के भावो को कविता मे उतारा है आपने
बस और क्या कहूँ

मेरे भाव ने कहा…

भाई बहन का यह स्नेह सदैव यू ही बना रहे ............शुभकामनाएँ

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

sundar bhav

रचना दीक्षित ने कहा…

अरे !!!भाई दूज को तो अभी १५ दिन बाकी हैं ये अग्रिम प्यार का उपहार था क्या ???? बहुत अच्छा लगा बहन के लिए भाई का प्यार

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत भावपूर्ण..

संगीता पुरी ने कहा…

वाह ..

बहुत खूब !!

Sadhana Vaid ने कहा…

बहुत प्यारी दुआ है एक भाई की अपनी बहन के लिये ! इतनी निर्मल निश्छल दुआ असर ना करे हो ही नहीं सकता ! इतने कोमल मन का भाई ही बहन के लिये ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार है ! सुन्दर रचना के लिये आभार एवं शुभकामनाएं !

Sadhana Vaid ने कहा…

बहुत प्यारी दुआ है एक भाई की अपनी बहन के लिये ! इतनी निर्मल निश्छल दुआ असर ना करे हो ही नहीं सकता ! इतने कोमल मन का भाई ही बहन के लिये ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार है ! सुन्दर रचना के लिये आभार एवं शुभकामनाएं !

उस्ताद जी ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
डा.राजेंद्र तेला"निरंतर" ने कहा…

good one

rajeysha ने कहा…

उस्‍ताद की टि‍प्‍पणी में सुधार की जरूरत है।

संजय भास्कर ने कहा…

धन्यवाद
@ यशवंत भाई
मेरी हौसला अफज़ाई के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया.

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

स्नेह आशीष से परिपूर्ण भाव अभिव्यक्ति.

संजय भास्कर ने कहा…

@ आदरणीय निर्मला कपिला जी..
स्नेह और आशीर्वाद के सिवा क्या चाहिये।
.......आपका आशीर्वाद है

संजय भास्कर ने कहा…

धन्यवाद
@ पूजा जी..
@ आशा जी..
@ एस ऍम मासूम जी..
@ माधव जी..
@ भूषण जी..
@ अरुण रॉय जी..
@ आनंद जी..
ब्लॉग से जुड़ने और अपने बहुमूल्य विचार देने के लिए आप सभी का तहे दिल से
शुक्रिया
बहुत बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

धन्यवाद
@ दीपायन जी..
आपने बिलकुल सही कहा
बहन जब ब्याह कर जाती है, तो एक भाई के दिल पर क्या गुजरती है वो एक भाई ही समझ सकता है । ना वो अपने मन की दुख़ किसी को बता सकता है, ना सबके सामने रो सकता है । बस मन ही मन अपने बहना के खुशी लिये खु़दा से दुआ माँगता है

संजय भास्कर ने कहा…

@ महेंदर मिश्र जी..
@ आशु जी..
@ अशोक जमनानी जी..
@ दिगम्बर नासवा जी..
@ दिव्या जी..
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार ! इसी तरह समय समय पर हौसला अफज़ाई करते रहें ! धन्यवाद !

उस्ताद जी ने कहा…

[मूल्यांकन से बाहर पोस्ट]

बहन के प्रति भाई के मन के उदगार बहुत अच्छे लगे. यह स्नेह हमेशा बना रहे.

Preeti ने कहा…

Bahan ke parti bhai ka itna ghra pyar ankhe nam ho gayi ye kavita padhkar..

....aaj to kamala kardiya sanjay ji aapne
bahut hi badhiya

Regards
Preeti

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बहुत अच्छी आशीर्वाद पूर्ण रचना ।

honesty project democracy ने कहा…

अच्छी और विचारणीय प्रस्तुती...

आमीन ने कहा…

bahut sundar

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत सुन्दर कामना की है, यही कामना और प्यार ही तो भाई बहन के पवित्र रिश्ते का आधार है. काश सभी भाई तुम्हारी तरह हों और अपनी बहना को इतना ही प्यार दें.

PRIYANKA RATHORE ने कहा…

bhut pyari kavita hai bhayi ji...meri duaa hai ishver se....her bhan ko aap jaisa hi bhayi mile....aamin.

अनुपमा पाठक ने कहा…

bhai ki snehpoorna bhavnaon ko sundar abhivyakti mili hai!
regards,

Akhtar Khan Akela ने कहा…

संजय भाई बहना के लियें यह प्यार हमेशां बना रहे लेकिन भाइयों का भी इस प्यार पर हक हे अच्छी कविता के लियें बधाई. अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहन के प्रति कोमल भावों को समर्पित रचना।

हिमांशु । Himanshu ने कहा…

मासूम सी खूबसूरत रचना का आभार ।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सुंदर भावों से सजी प्यारी रचना....

mahendra verma ने कहा…

भाई बहन के प्यार-दुलार को अभ्व्यिक्त करती सुंदर कविता।

Dr. Ashok palmist blog ने कहा…

निर्मल , कोमल भावनाओँ से सजी उत्कृष्ट कविता , भाई- बहन के स्नैह को सीँचती सुन्दर अभिव्यक्ति के लिए शुभकामनाएँ एवं आभार! -: VISIT MY BLOG :- पढ़िये विशेष लेख ............ दृष्टिहीनता से कैसे बचेँ।

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर कविता, एक भाई अपनी बहन को दुआ ओर प्यार से किमती ओर कोन सी ची दे सकता हे, आज दुनिया मे सब कुछ मिल रहा हे बस प्यार की कमी हे, ओर आप की बहिन सच मे किस्मत वाली हे जिसे तुम सा भाई मिला हे,धन्यवाद

जय हिन्द ने कहा…

!! सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा !!

Ravindra Ravi ने कहा…

पर क्या दू है ही क्या पास मेरे
हूँ तो एक छोटा सा कवि!

वाकई एक कवी और क्या दे सकता है!
बहुत बढ़िया संजयजी!

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना.

Shekhar Suman ने कहा…

पता नहीं इतनी बेहतरीन पोस्ट से इतना दूर कैसे रह गया...

लेकिन कविता पढ़कर उदास हो गया, क्युंकि मेरी कोई बहन नहीं है....

मेरे ब्लॉग में इस बार अग्निपरीक्षा ....

रंजना ने कहा…

स्नेहिल भावोद्गार !!!!

संजय भास्कर ने कहा…

@ रानी विशाल जी..
बहन भाई का रिश्ता का रिश्ता ही ऐसा होता है भाई बहिन पर सब कुछ न्योछावर कर दे तो भी कम है
ये सब आप जैसी बहनों की वजह से मुझे लिखने की प्रेरणा और असिर्वाद मिलता है
@ वंदना जी..
ये सब आप जैसी बहनों की वजह से मुझे लिखने की प्रेरणा और असिर्वाद मिलता है
@ अरविन्द जी..
@ प्रीती जी..
@ दीपक सैनी जी..
@ मेरे भाव जी..
@ संजय कुमार चौरसिया जी..

ब्लॉग से जुड़ने और अपने बहुमूल्य विचार देने के लिए आप सभी का तहे दिल से
शुक्रिया
बहुत बहुत आभार
संजय भास्कर

संजय भास्कर ने कहा…

@ रचना दीक्षित जी..
अग्रिम प्यार का उपहार ही समझ लो रचना दीदी
ये सब आप जैसी बहनों की वजह से मुझे लिखने की प्रेरणा और असिर्वाद मिलता है
@ समीर लाल जी..
@ संगीता पुरी जी..
@ साधना वैद्य जी..
बहुत प्यारी दुआ है एक भाई की अपनी बहन के लिये
@ डा.राजेंद्र तेला"निरंतर" जी..
@ राजेय्षा जी..
@ शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' जी..
@ उस्ताद जी..
@ प्रीती जी..
@ टी अस दराल जी..
@ जय कुमार झा जी..(honesty project democracy )
@ आमीन जी..
धन्यवाद, मेरे ब्लॉग से जुड़ने के लिए और बहुमूल्य टिपण्णी देने के लिए
मेरी हौसला अफज़ाई के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया.

मेरे भाव ने कहा…

bahan aur bhai ka rishta sansar mein sabse satvik hai. aap jaisa bhai ishwar sabhi bahno ko de.

चैतन्य शर्मा ने कहा…

bahut sunder.... photo bhi achha laga..

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

ek dum nischhal aur sidhe saadhe sabdo me bahut pyara sa aashirwad hai, bahan ke liye........:)

mere aur se bhi aapke bahan ko bahut bahut pyar aur aashish!!

God bless!!

अनिल कान्त ने कहा…

इंसान अपनी भावनाओं को गद्य में भी व्यक्त कर सकता है । उसके लिए जबरदस्ती कविता लिखने की आवश्यकता नहीं ।

आशा करता हूँ कि आप इसे सकारात्मक रूप में लेंगे । जिससे आपकी रचनात्मकता में वृद्धि हो ।

रजनी... ने कहा…

bahut achi rachna hai sanjay ji really nice

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

बहन को खुश्हाल जीवन के लिए उपयोगी शिक्षा और आशिर्वाद आपने दिया है!...आप कवि है, इसलिए कविता के सशक्त माध्यम से दिया है...यह सब से सुंदर उपहार है!...सुंदर रचना!

om ने कहा…

बहुत सुन्दर काश सभी भाई तुम्हारी तरह हों और अपनी बहना को इतना ही प्यार दें.

om ने कहा…

सुन्दर रचना के लिये आभार एवं शुभकामनाएं !
.....संजय भाई

Anita ने कहा…

कविता के भाव उच्च हैं और बहुत सुंदर भी, हर बहन को ऐसा ही भाई तो चाहिए ! आने वाले भाईदूज के लिये अग्रिम बधाई!

anjana ने कहा…

बढ़िया भावपूर्ण रचना ।

चन्द्र कुमार सोनी ने कहा…

बहुत मार्मिक पोस्ट हैं आपकी.
मेरी कोई बहन नहीं हैं, इसलिए बहन की कमी खलती हैं मुझे.
आज आपकी पोस्ट से मन भर आया.
धन्यवाद.
WWW.CHANDERKSONI.BLOGSPOT.COM

Parul ने कहा…

true emotions!

Mahak ने कहा…

एक भाई के अपनी बहन के प्रति शानदार और सार्थक उदगार.बधाई.

Rahul ने कहा…

nice emotions on sis!! also it shows the our traditional thinking when sis gets married and goes!!i beg to differ on some contents/expectations made here frm sis.

रोहित ने कहा…

sarthak rachna!!!!!!!

Dr.R.Ramkumar ने कहा…

खुदा से गुजारिश है
तेरे हिस्से के सारे गम मुझे मिले
हो मेरे हिस्से कि सारी खुशिया तेरी ,
तेरे हाथो में है अब लाज तेरे माता पिता भाइयो की |


bahut sunder!!

Sirf Tum.. ने कहा…

bahut hi sunder bhav h dost apke apni bahan k liye

Shruti Mehendale ने कहा…

Bahut hi sundar kavita hai ...

VIJAY KUMAR VERMA ने कहा…

bahut hee bhawuk rachna..dil ko chhoo lene walee

संजय भास्कर ने कहा…

@ रेखा श्रीवास्तव जी..
बस आपका आशीर्वाद चाहिए
@ प्रियंका राठौर जी..
@ अनुपमा पाठक जी..
@ अख्तर खान अकेला जी..
@ प्रवीण पाण्डेय जी..
@ हिमांशु । Himanshu जी..
@ डॉ॰ मोनिका शर्मा जी..
@ महेंदर वर्मा जी..
@ डॉ अशोक जी..
धन्यवाद, मेरे ब्लॉग से जुड़ने के लिए और बहुमूल्य टिपण्णी देने के लिए

संजय भास्कर ने कहा…

@ राज भाटिय़ा जी..
बहने तो सभी किस्मत वाली होती है
@ जय हिन्द जी..
@ रविन्द्र रवि जी..
@ वन्दना अवस्थी दुबे जी..
@ शेखर सुमन जी..
@ रंजना जी..
@ मेरे भाव जी..
@ चैतन्य शर्मा
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार ! इसी तरह समय समय पर हौसला अफज़ाई करते रहें ! धन्यवाद !

संजय भास्कर ने कहा…

@ मुकेश कुमार सिन्हा जी..
@ अनिल कान्त जी..
@ रजनी जी..
@ डा. अरुणा कपूर. जी..
@ ॐ जी..
@ अनीता जी..
@ अंजना जी..
@ चन्द्र कुमार सोनी जी..
@ पारूल जी..
@ महक जी..
धन्यवाद, मेरे ब्लॉग से जुड़ने के लिए और बहुमूल्य टिपण्णी देने के लिए

अशोक बजाज ने कहा…

प्रशंसनीय .

कृपया ग्राम चौपाल में पढ़े - " भविष्यवक्ता ऑक्टोपस यानी पॉल बाबा का निधन "

Rahul ने कहा…

Thanks for coming & spending time in my blog!! u r a real gr8 networking guy!!hey do u knw how can i send comments in Hindi...

amrendra "aks" ने कहा…

sunder rachna, manobhavo ko dersati ek utkrast rachna k liye badhai sweekar karen..............

rashmi ravija ने कहा…

बहना तू सदा मुस्कुराती रहे
खुदा से गुजारिश है
तेरे हिस्से के सारे गम मुझे मिले
इस स एबध्का र्कोई भाई...अपनी बहन को और क्या दे सकता है..
बेहद प्यारी रचना

mridula pradhan ने कहा…

bahot achche.

कविता रावत ने कहा…

Bhai bahan ke pyarbhare rishton ka pragaad chitran behad achha laga...... sabke bhai-bahin ke rishton mein sada aisee hi pragaadta bani rahee shubhkamna hai..

amit destiny! ने कहा…

kavita ke roop mein behan ko bht hi pyaara tohfa diya hai aapne....aisa tohfa jo kabhi bhi kho nahi sakta,ek amar,anmol tohfa.........
apni kavita se apna pyaar zahir kiya hai.dil ko chhoo gayi....
meri behan bhi apne sasuraal mujhse door jaane wali hai main bhi use aisa hi t0hfa dunga.....

Saumya ने कहा…

beautiful blessings for a sister...god bless!

संजय भास्कर ने कहा…

@ राहुल जी..
आप का बहुत-बहुत शुक्रिया.
@ रोहित जी..
@ डॉ. रामकुमार जी..
@ SIRF TUM JI..
@ Shruti Mehendale JI..
@ विजय कुमार वर्मा जी..
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार !

संजय भास्कर ने कहा…

@ अशोक बजाज जी..
बहुत-बहुत शुक्रिया.
@ राहुल जी..
@ अमरेन्द्र अक्स जी..
ब्लॉग पर आकर कविता पढने और होसला अफजाई के लिए बहुत बहुत शुक्रिया

संजय भास्कर ने कहा…

@ रश्मि रविजा जी..
@ मृदुला परधान जी..
@ कविता रावत जी..
ब्लॉग पर आकर कविता पढने और होसला अफजाई के लिए बहुत बहुत शुक्रिया

आभार
संजय भास्कर

अशोक मिश्र ने कहा…

बहुत अच्छी कविता है ......
बधाई .....

Sunita ने कहा…

Thanks Bhaiya
beautiful poem.

imoshnal kar kiya aapne.

regards
sunita bhaskar

Sunita ने कहा…

bhai dooj se pehle hi.
bahut hi sunder tohfa behan ke liye

regards
sunita bhaskar
indore

ALOK KHARE ने कहा…

beshaq ek bhai ne apni behan ke liye dil khola kar rakh diya, shandar tohfa behan ke liye
sundar ehsason se bahrpur rachna

Shekhar Kumawat ने कहा…

खुदा से गुजारिश है
तेरे हिस्से के सारे गम मुझे मिले
हो मेरे हिस्से कि सारी खुशिया तेरी ,

एक भाई के अपनी बहन के प्रति शानदार और सार्थक उदगार.बधाई.

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

यह कविता मेरे मन को बहुत भाई!
--
वाह, भास्कर जी!
आपकी भावनाओं की जितनी प्रशंसा की जाए, कम है!
----------------------------------------
ओ, मेरी प्यारी बहना : सरस पायस
----------------------------------------

सुधीर ने कहा…

सुंदर कविता।

Shah Nawaz ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन रचना है.... भावनाओं और दुआओं का सैलाब है... बेहतरीन!

विरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा…

बहुत बढ़िया भावनात्मक प्रस्तुति ..संजय जी ..
बहन के प्रति ऐसा गहरा प्यार ....आजकल कम ही देखने को मिलता है.

shikha kaushik ने कहा…

bahut sundar kavita !

sada ने कहा…

बहुत ही सुन्‍दर शब्‍द रचना ।

shama ने कहा…

Meree to aankhen nam kar dee is rachanane! Dil bhar aaya!

मंजुला ने कहा…

bahut sundar.......sorry der say comment karne ke liye.......

जेन्नी शबनम ने कहा…

bahut bhaavpurn kavita, shubhkaamnaayen.

संजय भास्कर ने कहा…

@ धन्यवाद अमित भाई
आपकी बहन को मेरी तरफ से ढेर सारी शुभकामनाये
@ सोम्य जी..
@ सुनीता दीदी..
आपने कविता पढ़ी बहुत ही अच्छा लगा
@ अलोक खरे जी..
@ शेखर कुमावत जी..
@ रावेंद्रकुमार रवि जी..
@ सुधीर जी..
@ शाह नवाज़ जी..

आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार ! इसी तरह समय समय पर हौसला अफज़ाई करते रहें ! धन्यवाद !

संजय भास्कर ने कहा…

धन्यवाद
@ अमित मिश्र जी..
@ विरेन्द्र सिंह चौहान जी..
@ शिखा कौशिक जी..
@ सदा जी..
@ शमा जी..
@ मंजुला जी..
@ जेन्नी शबनम जी..
आप सभी का ह्र्दय से बहुत बहुत आभार ! ब्लॉग को पढने और सराह कर उत्साहवर्धन के लिए शुक्रिया.
! धन्यवाद !

कुमार राधारमण ने कहा…

पवित्रतम रिश्तों के शुद्धतम भाव।

Anirban Kar "Qureshi" ने कहा…

भावनायो को आछा रूप दिया है, कृपया लिखते रहिये... बहुत खूब...शुभ कम्नाये ...

आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' ने कहा…

विशेष रचना :

मेरे भैया

संजीव 'सलिल'
*
मेरे भैया!,
किशन कन्हैया...
*
साथ-साथ पल-पुसे, बढ़े हम
तुमको पाकर सौ सुख पाये.
दूर हुए एक-दूजे से हम
लेकिन भूल-भुला न पाये..
रूठ-मनाने के मधुरिम दिन
कहाँ गये?, यह कौन बताये?
टीप रेस, कन्ना गोटी है कहाँ?
कहाँ है 'ता-ता थैया'....
*
मैंने तुमको, तुमने मुझको
क्या-क्या दिया, कौन बतलाये?
विधना भी चाहे तो स्नेहिल
भेंट नहीं वैसी दे पाये.
बाकी क्या लेना-देना? जब
हम हैं एक-दूजे के साये.
भाई-बहिन का स्नेह गा सके
मिला न अब तक कोई गवैया....
*
देकर भी देने का मन हो
देने की सार्थकता तब ही.
तेरी बहिना हँसकर ले-ले
भैया का दुःख विपदा अब ही..
दूज-गीत, राखी-कविता संग
तूने भेजी खुशियाँ सब ही.
तेरी चाहत, मेरी ताकत
भौजी की सौ बार बलैंया...
*****

अनामिका की सदायें ...... ने कहा…

सुंदर भावो पूरन रचना.

कुमार पलाश ने कहा…

बहन को संबोधित कविता में आपने सभी भैयाओं का प्रतिनिधित्वा कर रहे हैं... एक भाई होकर अपनी बहा के लिए हम भी ऐसा ही सोचते हैं.. बहुत मर्मस्पर्शी कविता है सर जी !

Apanatva ने कहा…

Bahut sunder bhav bharee bhai ke sneh ko darshatee anupam abhivykti....bahut pasand aaee.

shubhkamnae.......

Aabhar

preetipraveen ने कहा…

apne aap se prashna karna or uska jawab bhi khud hi dena ye andaz ka-
-bile tareef hai sanjay.Aapki lekhani ki
jai ho.

संजय भास्कर ने कहा…

आप सब का मेरे ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत आभार |प्रोत्साहित करने के लिए आभार |

Reena Maurya ने कहा…

एक बहन को भाई का आशीर्वाद हि काफी है...
बहन के प्रती भाई के प्रेम को व्यक्त करती सुंदर और अति उत्तम रचना है...

Yudhisthar raj ने कहा…

बहना तू सदा मुस्कुराती रहे
खुदा से गुजारिश है .... बेहतरीन पेशकश ...