29 अगस्त 2010

श्रीलंका सीरीज ने तोड़ा कइयों का भ्रम

क्या इस वक्त टीम इंडिया के पास ऐसा कोई भी खिलाड़ी नहीं है, जिस पर जीत का भरोसा किया जा सके? इस वक्त तो कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर खड़ा हो, लेकिन विश्वस्त नहीं हो पाते कि वह जीत दिला ही देगा। कोई ऐसा बॉलर नहीं है जो मैच में वापसी कराने का दमखम रखता हो। यदि कभी बॉलिंग चल गई तो जीत गए, नहीं तो टांय-टांय फिस्स। सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड और ओपनिंग के लिए गौतम गंभीर के बिना तो टीम दोनों टांगों से लंगड़ी लग रही है।

to read complete come to this link- http://mydunali.blogspot.com/