14 जनवरी 2010

महान विचार









जब कोई तुम्हारा साथ न दे तो क्या हुआ ,तुम अकेले चलो |  
   -रविंदर नाथ टैगोर

 मनुष्य की सर्वोतम मित्र ,उसकी दस उंगलिया है |
- शेक्सपिअर