14 दिसंबर 2009

अलग होना है, ऐसा लगता है

अलग होना है, ऐसा लगता है

सबको अलग होना है, ऐसा लगता है तेलंगाना बनाओ, हरित प्रदेश बनाओ बड़े दुखी हो अपनों से तुम, ऐसा लगता है बंट जायेगा घर तो बैठे रहना फिर बात करेंगे, तुम्हे कैसा लगता है

हमारे मित्र आमीन के ब्लॉग से ये कुछ पंक्तियाँ....